इश्क में शहर होना (Hindi)

Ravish Kumar

Physical

In Circulation

एक टीवी पत्रकार ने जैसा जिया शहर को, लिखी उसमे पलनेवाले प्रेम की लघु कथाओं की श्रंखला. चौथे राजकमल प्रकाशन सृजनात्मक गद्य सम्मान से सम्मानित कृति. “प्रेम हम सबको बेहतर शहरी बनाता है ! हम शहर के हर अनजान कोने का सम्मान करने लगते हैं !

उन कोनों में जिंदगी भर देते हैं....आप तभी एक शहर को नए सिरे से खोजते हैं जब प्रेम में होते हैं ! और प्रेम में होना सिर्फ हाथ थामने का बहाना ढूंढना नहीं होता ! दो लोगों के उस स्पेस में बहुत कुछ टकराता रहता है ! ‘लप्रेक’ उसी कशिश और टकराहट की पैदाइश है !”

Language Hindi
ISBN-10 9788126727674
ISBN-13 9788126727674
No of pages 90
Font Size Medium
Book Publisher Rajkamal prakashan
Published Date 01 Feb 2015

About Author

Author : Ravish Kumar

1 Books

Related Books